‘एशिया कप देखा तक नहीं, शायद कोहली ने शतक ठोका था…’ ऑस्ट्रेलियाई कप्तान का चौंकाने वाला खुलासा

नमस्कार दोस्तों हाल में ही खत्म हुआ एशिया कप के ज्यादातर मुकाबले कांटे के रहे. कुछ में तो नतीजा आखिर गेंद में आया. इसी वजह से सोशल मीडिया पर इस तरह के ट्वीट की बाढ़ सी आ गई कि अब वक्त है टी20 वर्ल्ड कप का, उम्मीद है कि इसमें भी मुकाबले एशिया कप जैसे रोमांचक होंगे.

भारत, पाकिस्तान, श्रीलंका, अफगानिस्तान और बांग्लादेश ऑस्ट्रेलिया में होने वाले टी20 विश्व कप से पहले तैयारी के लिए इससे बेहतर टूर्नामेंट की उम्मीद नहीं कर सकते थे. जिस तरह से एशिया कप के मुकाबले हुए।

उसे देखते हुए हर कोई यही सोच रहा होगा कि ऑस्ट्रेलिया, इंग्लैंड और वेस्टइंडीज जैसी टीमों की भी इस टूर्नामेंट पर नजर रही होगी, ताकि वो विपक्षी टीमों की ताकत और कमजोरी जान सकें लेकिन यह बात सही नहीं है. कम से कम ऑस्ट्रेलिया के टेस्ट कप्तान पैट कमिंस तो ऐसा सोचने वालों में से एक नहीं थे.

 

पैट कमिंस 3 टी20 की सीरीज के लिए भारत दौरे पर आए हैं. वो टीम के उप-कप्तान भी हैं. उन्होंने मोहाली में 20 सितंबर को होने वाले पहले टी20 मुकाबले से पहले हैरान करने वाली बात कही है. कमिंस ने कहा कि मैंने एशिया कप का कोई मैच नहीं देखा लेकिन, यह जरूर पता है कि विराट कोहली ने शतक लगाया था.

मैंने एशिया कप देखा तक नहीं: कमिंस

कमिंस ने हिंदुस्तान टाइम्स के एक सवाल के जवाब में कहा, ‘ईमानदारी से बताऊं तो मैंने एशिया कप-2022 देखा ही नहीं. क्या श्रीलंका जीता था? ईमानदारी से मैंने एक मैच भी नहीं देखा. मुझे लगता है कि विराट कोहली ने शतक लगाया था. वो क्लास प्लेयर हैं. वो कभी भी फॉर्म में लौट सकते थे. वो हमारे लिए टी20 सीरीज में बड़ी चुनौती होंगे.’

कोहली ने एशिया कप में शतक ठोका था

विराट कोहली एशिया कप में रन बनाने के मामले में दूसरे स्थान पर रहे थे. उन्होंने 5 मैच में 148 के स्ट्राइक रेट और 92 की औसत से 276 रन बनाए थे. कोहली की जिस पारी का कमिंस ने जिक्र किया, वो उन्होंने भारत के आखिरी सुपर-4 मैच में अफगानिस्तान के खिलाफ खेली थी. इस मैच में कोहली ने नाबाद 122 रन ठोके थे.

 

‘भारत में टी20 अलग तरह से खेल जाता है’

कमिंस ने भारत के खिलाफ होने वाली टी20 सीरीज को लेकर कहा, ‘मुझे लगता है कि ऑस्ट्रेलिया की तुलना में भारत में टी20 मुकाबले अलग तरीके और पेस से खेल जाते हैं. यहां के मैदान की बाउंड्री छोटी है.

मुझे लगता है कि आपको यहां के हालात से जल्दी तालमेल बैठाने की जरूरत है. कुछ ऐसे दिन होंगे, जब आपको विकेट धीमे मिलेंगे. उस सूरत में गेंदबाजों के लिए कटर और स्लोअर गेंद ज्यादा अहम हो जाती है.