भारत के लिए पहले बल्लेबाजी करके जीत हासिल करना नामुमकिन! 60% मुकाबलों में मिली हार, ये हैं 5 कारण

नमस्कार दोस्तों टीम इंडिया टी20 सीरीज में अच्छी शुरुआत नहीं कर सकी है. ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ पहले मैच में उसे 4 विकेट से हार मिली. भारत ने पहले खेलते हुए 208 रन बनाए थे. जवाब में कंगारू टीम ने लक्ष्य को 19.2 ओवर में 6 विकेट पर हासिल कर लिया.

इससे पहले टी20 एशिया कप में भारत को श्रीलंका और पाकिस्तान से भी हार मिली थी. रोहित शर्मा के लिए टीम की गेंदबाजी चिंता का विषय है. वह इसलिए, क्योंकि टीम पहले बल्लेबाजी करते हुए अंतिम 5 में से 3 टी20 इंटरनेशनल मैच हार चुकी है.

इसमें एशिया कप के भी 2 मैच शामिल हैं. यानी 60 फीसदी मुकाबलों में हार मिली है. टी20 वर्ल्ड कप से पहले भारत को 5 मैच और खेलने हैं. ऐसे में टीम को इन 5 कमियों को दूर करना जरूरी है.

पावरप्ले में खराब गेंदबाजी

टीम इंडिया के गेंदबाज पावरप्ले के पहले 6 ओवर में अच्छा प्रदर्शन करने में विफल रहे हैं. ऑस्ट्रेलिया ने भारत के खिलाफ एक विकेट पर 60 रन बना लिए थे. इस कारण टीम की लय बिगड़ जा रही है और मिडिल ओवर्स में गेंदबाजों पर दबाव आ जा रहा है.

 

स्पिनर्स रहे हैं फेल

टीम इंडिया के स्पिनर्स मिडिल ओवर्स में विकेट नहीं ले पा रहे हैं. ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ बाएं हाथ के स्पिनर अक्षर पटेल भले ही 3 विकेट लेने में सफल रहे. लेकिन मुख्य स्पिनर युजवेंद्र चहल इस दौरान पूरी तरह फेल रहे. उन्हें एकमात्र विकेट पारी के 20वें ओवर में मिला, जब जीत के लिए विरोधी टीम को सिर्फ 2 रन बनाने थे. उन्होंने 3.2 ओवर में 12.60 की इकोनॉमी से 42 रन दिए.

खराब फील्डिंग बड़ा सिररर्द

टीम इंडिया की खराब फील्डिंग बड़ा सिररर्द बनी हुई है. ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ अक्षर पटेल से लेकर केएल राहुल ने कैच छोड़े. मैच के दौरान कई बार पहले गेंदबाजी करते हुए इन चीजों पर अधिक ध्यान नहीं जाता. लेकिन बाद में गेंदबाजी करते हुए यह टीम पर भारी पड़ता है. पूर्व कोच रवि शास्त्री ने इस पर सवाल उठाते हुए कहा कि मेरे समय में इस तरह की खराब फील्डिंग नहीं हो रही थी.

 

कई बार ओस भी होता है फैक्टर

टी20 के डे-नाइट मैच रात में ही होते हैं. ऐसे में कई बार ओस के कारण दूसरी पारी में गेंदबाजी करना मुश्किल होता है. ओस के कारण स्पिनर्स तो लगभग मैच से बाहर हो जाते हैं. पिछले साल ओमान और यूएई में हुए टी20 वर्ल्ड कप के दौरान ऐसा देखने को मिला था. हर टीम टॉस जीतकर पहले गेंदबाजी का फैसला कर रही थी.

कप्तान पर सवाल

पहले बल्लेबाजी करके लगातार हार मिलने पर कप्तान पर भी सवाल उठते हैं. क्या टीम की रणनीति कहीं कमजोर तो नहीं है. ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ मिडिल ओवर्स में उमेश यादव को गेंदबाजी कराने पर पूर्व क्रिकेटर रॉबिन उथप्पा ने सवाल उठाए थे. हालांकि भारतीय तेज गेंदबाज इस दाैरान 2 विकेट लेने में सफल रहा था. उमेश ने अपने पहले ओवर में 4 चौके सहित 16 रन दिए थे. कोई भी गेंदबाज इस मैच में प्रभाव नहीं छोड़ सका था.