इंडिया लीजेंड्स लगातार दूसरी बार बना चैंपियन, फाइनल में सचिन तेंदुलकर शून्य पर आउट, नमन ओझा का शतक

रायपुर में खेले गए मैच में इंडिया लीजेंड्स ने पहले बल्लेबाजी करते हुए 20 ओवर में छह विकेट पर 195 रन बनाए। जवाब में श्रीलंका लीजेंड्स की टीम 18.5 ओवर में 162 रनों पर सिमट गई।

रोड सेफ्टी वर्ल्ड सीरीज के फाइनल में इंडिया लीजेंड्स की टीम ने श्रीलंका लीजेंड्स को हराकर लगातार दूसरी बार खिताब अपने नाम कर लिया। उसने इस मैच को 33 रन से अपने नाम किया।

रायपुर में शनिवार को खेले गए मैच में इंडिया लीजेंड्स ने पहले बल्लेबाजी करते हुए 20 ओवर में छह विकेट पर 195 रन बनाए। जवाब में श्रीलंका लीजेंड्स की टीम 18.5 ओवर में 162 रनों पर सिमट गई।

 

इंडिया लीजेंड्स की जीत के हीरो विकेटकीपर बल्लेबाज नमन ओझा रहे। उन्होंने 71 गेंद पर नाबाद 108 रन की पारी खेली। नमन ने 15 चौके और दो छक्के लगाए। उनका स्ट्राइक रेट 152.11 रहा। दूसरी ओर, कप्तान सचिन तेंदुलकर खाता नहीं खोल सके। उन्हें नुवान कुलशेखरा ने पहली ही गेंद पर क्लीन बोल्ड कर दिया।

इंडिया लीजेंड्स के कप्तान सचिन तेंदुलकर ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी का फैसला किया। टीम की शुरुआत खराब रही। पहले ओवर की आखिरी गेंद पर कुलशेखरा ने तेंदुलकर को आउट कर दिया। उनके बाद बल्लेबाजी के लिए आए सुरेश रैना सिर्फ चार रन बना सके। उन्हें कुलशेखरा ने जीवन मेंडिस के हाथों कैच कराया।

नमन ओझा ने दो विकेट गिर जाने के बाद विनय कुमार के साथ तीसरे विकेट के लिए 90 रनों की साझेदारी की। विनय 21 गेंद पर 36 रन बनाकर ईशान जयरत्ने का शिकार बने। इसके बाद नमन और युवराज सिंह ने चौथे विकेट के लिए 45 रन जोड़े। युवराज 13 गेंद पर 19 रन बनाकर कुलशेखरा का तीसरा शिकार बने।

 

इरफान पठान 11 रन बनाकर और यूसुफ पठान खाता खोले बगैर पवेलियन लौटे। स्टुअर्ट बिन्नी ने दो गेंदों पर दो चौके लगाए। वह आठ रन बनाकर नाबाद रहे। नमन ओझा ने 108 रन की नाबाद खेली। श्रीलंका के लिए कुलशेखरा ने सर्वाधिक तीन विकेट लिए। उदाना को दो सफलता मिली।

196 रन के लक्ष्य का पीछा करने उतरी श्रीलंका लीजेंड्स को लगातार झटके लगे। ईशान जयरत्ने (51 रन) को छोड़कर कोई बल्लेबाज बड़ी पारी नहीं खेल पाया। महेला उदाबट्टे ने 26, जीवन मेंडिस ने 20, असीला गुणारत्ने ने 19, कप्तान तिलकरत्ने दिलशान ने 11, उपल थरंगा ने 10 और दिग्गज सनथ जयसूर्या ने पांच रन बनाए।

इंडिया लीजेंड्स की ओर से विनय कुमार ने तीन और अभिमन्यु मिथुन ने दो विकेट झटके। राजेश पवार, स्टुअर्ट बिन्नी, राहुल शर्मा और यूसुफ पठान को एक-एक सफलता मिली। नमन ओझा को प्लेयर ऑफ द मैच चुना गया। वहीं, तिलकरत्ने दिलशान को प्लेयर ऑफ द सीरीज का अवॉर्ड मिला।